चाहत। – Patriotic Poem in Hindi

0
210
Chahat Poem Shubhvani.com

चाहत। ।  : Patriotic Poem in Hindi

देशभक्ति का अर्थ है अपने देश के प्रति प्रेम । यह गुण देश के नागरिकों को अपने देश के लिए निस्वार्थ भाव से काम करने और इसे बेहतर बनाने के लिए प्रेरित करता है। एक सही मायने में विकसित देश सच्चे देशभक्तों से बना है। दूसरे शब्दों में, देशभक्ति का मतलब है देश का हित पहले रखना और फिर अपने बारे में सोचना। 


1 Best Patriotic Poem in Hindi

  चाहत।  


भारती    तेरे    चरण     की  
धूल    बनना    चाहता    हूँ, 
चढ़    सकूँ     तेरे      कदम 
वो  फूल  बनना  चाहता  हूँ। 


चाहता      बनना      सरित 
तेरे    चरण   नित  धो  सकूँ, 
हर   सकूँ   मैं   प्यास   तेरी 
बह   तुम्हीं   में   खो    सकूँ। 


एक   सुर   में    बाँध    पाऊँ 
एकता   की    डोर     बनना, 
दिव्य ,निर्मल पीत – पट  की 
चाहता  सित   कोर   बनना। 


द्रोह  के   हर   स्वर     दबाऊँ 
मैं     वतन       के      वास्ते, 
जो करें यश – धन   कलंकित 
बन्द      हों      वो       रास्ते। 


मैं   जवानों   की   शिरा   में 
खून   बन    अविरत     बहूँ, 
‘भारती की  जय’  चिता  की 
मैं    लपट    बनकर     कहूँ। 


शौर्य ,  गौरव  ,  वीरता    की
मैं     बनूँ     ऐसी      कहानी, 
राष्ट्र    की    बलिवेदी      पर 
चढ़ जाऊँ बन अल्हड़ जवानी। 


देश     के    बलिदानियों    में 
शीर्ष     मेरा     नाम      आये, 
मैं     करूँ    उत्सर्ग     जीवन 
अस्थि    मेरी    काम    आये। 


चाहता   हूँ    देव    मिट्टी     में 
मिलूँ      मैं      क्षार      बनके, 
भारती     के    मैं    गले     में 
झूल     जाऊँ    हार     बनके। 


– अनिल मिश्र प्रहरी। 
 

1 Best Patriotic Poem in Hindi –


1616490059281 1283684126 e1620761593501 Patriotic Poem in Hindi
अनिल मिश्र प्रहरी

Patriotic Poems More

Photo Credit : Photo by Vikram Nath Chouhan