तीन रंगोँ मेँ है सिमटी अपने देश की कहानी – Patriotic Poem in Hindi

Patriotic Poem in Hindi

Desh Bhakti Poetry

तीन रंगोँ मेँ है सिमटी अपने देश की कहानी : Patriotic Poem in Hindi

देशभक्ति का अर्थ है अपने देश के प्रति जोशीले प्रेम को। यह गुण देश के नागरिकों को अपने देश के लिए निस्वार्थ भाव से काम करने और इसे बेहतर बनाने के लिए प्रेरित करता है। एक सही मायने में विकसित देश सच्चे देशभक्तों से बना है। दूसरे शब्दों में, देशभक्ति का मतलब है देश का हित पहले रखना और फिर अपने बारे में सोचना।

हमारा राष्ट्रिय ध्वज हमारे लोगों की आशाओं और इनकी आकांक्षाओ को प्रदर्शित करता हैं. इसी तिरंगे ध्वज की शान को बनाए और बचाएँ रखने के लिए स्वतन्त्रता के बाद कई सैनिको और देशभक्त नागरिकों ने अपनी जानें कुर्बान की हैं, मेरी शान हैं तिरंगा, मेरी जान हैं तिरंगा के उद्गोष इसी अपार प्रेम को दर्शाते हैं.

केसरिया सफ़ेद हरा तीनों रंगो से बना यह भारतीय ध्वज – Indian Flag अपने देश की एकता अखंडता, पवित्रता,  भाईचारे को निरंतर बनाएँ रखते हुए, अशोक का चक्र लगातार सत्य की राह पर बढ़ते रहने का संदेश देता हैं.

1 Best Patriotic Poem in Hindi – तीन रंगोँ मेँ है सिमटी अपने देश की कहानी

तीन रंगोँ मेँ है सिमटी
अपने देश की कहानी


“तीन रंगोँ मेँ है सिमटी
अपने देश की कहानी
चलो दोहराता हूँ उसे
अपनी जुबानी
 
केसरी रंग प्रतीक है बलिदान का
देश के प्रति
वीरोँ के सम्मान का
 
शहीदोँ के लहु की छीँटेँ
गिर गयी तिरंगेँ मेँ कहीँ
जो कारण है अब हर हिन्दुस्तानी के अभिमान का
 
शांति, प्रेम, सद्भाव
सफेद रंग दर्शाता है
द्वेष ईर्ष्या भूल कर
संग रहना ये सिखाता है
 
जहाँ लड़ते हो लोग दो गज़ ज़मीँ के लिए
ये अमन चैन की कर गुफ्तगु अपना मान बढ़ाता है
 
अब आखिरी बात बताता हूँ
मैँ हरे रंग पे आता हूँ
 
भारत की समृधि से पहचान कराता है ये
हरित क्रांति का सुनहरा वक्त याद दिलाता है ये
 
खेतोँ, खलिहानोँ की मिट्टी की खुशबु और
भारत के कृषि प्रधान होने का एहसास दिता है ये…..”
 
जय हिन्द

– शुभम सराफ
 

1 Best Patriotic Poem in Hindi – तीन रंगोँ मेँ है सिमटी अपने देश की कहानी


1 Best Patriotic Poem in Hindi - तीन रंगोँ मेँ है सिमटी अपने देश की कहानी

Patriotic Poems More