किसानों का नेताओं से निवेदन – Humorous Poems in Hindi

Humorous poems

Synopsis


किसानों का नेताओं से निवेदन – Humorous Poems in Hindi

किसानों का नेताओं से निवेदन

 
मेरे दिल में आज क्या है तू सुने तो मैं बता दूँ !
मेरे दिल में आज क्या है तू सुने तो मैं बता दूँ !
फसल जो उगाया, वो सड़क पर ही बिछा दूँ !!
मेरे दिल में आज क्या है, तू सुने तो मैं बता दूँ !
 
मुझे अन्नदाता बनाकर नेताओं ने खूब लूटा !
मुझे अन्नदाता बनाकर नेताओं ने खूब लूटा !
मेरा खेत कह रहा है कि उनको ज़िंदा दफा दूँ !!
मेरा खेत कह रहा है कि उनको ज़िंदा दफा दूँ !!

मेरे दिल में आज क्या है तू सुने तो मैं बता दूँ !
 
कोई पूछने न आये,सूखा या बाड़ जब आये !
कोई पूछने न आये,सूखा या बाड़ जब आये !
बेशरम,हर चुनाव में बस वोट माँगने आये !!
बेशरम, हर चुनाव में बस वोट माँगने आये !!

मेरे दिल में आज क्या है तू सुने तो मैं बता दूँ !
 
मैं फांसी लटक कर, शायद ही चैन पाऊं !
मैं फांसी लटक कर शायद ही चैन पाऊं !
पहले ऐसा करता था,पर अब न ऐसा करूँगा !!
अब तो हम सब मिलकर पार्लियामेंट सीढ़ी चढूँगा !!
आज तुझ को हम सब मिलकर,अपनी औकात बता दूँ !

मेरे दिल में आज क्या है तू सुने तो मैं बता दूँ !
 
– कुमार ध्रुव

LOVE POEMS FOR HIM


Patriotic Poems in Hindi